Saturday, July 22, 2017

Diabetes - Cause and Cure (Madhumeha - Kaaran Aur Nivaaran)


Introduction: Diabetes mellitus (DM), commonly referred to as diabetes, is a group of metabolic diseases in which there are high blood sugar levels over a prolonged period. Diabetes is due to either the pancreas not producing enough insulin or the cells of the body not responding properly to the insulin produced. 

Symptoms as per the ancient literatures: The following symptoms may differ up to some extent from the modern medicine. I am just quoting here what the ancient Ayurveda scriptures mention:

Excess dirt in teeth, ears and eyes. Fat in the feet and palms. Thirst and sweet taste in the mouth are early indications of Diabetes.
Excessive and turbid urine may also be an indication of Diabetes.
 
Astrological combinations of Diabetes: Pancreas is ruled by Venus and 5th house also shows pancreas. 6th house is the house of diseases. So, any malefic influence on these houses and Venus may show Diabetes in the horoscope. Jupiter also plays a part in it.

Beneficial diet and ayurvedic medicines

Bitter tasting vegetables like bitter gourd etc. (Juice of bitter gourd daily is very useful), barley, whole Moong Daal (Green Gram), horse gram (Moth daal), Toor daal, Navara rice (It is a special variety of rice which is only cultivated in Kerala and very useful in Diabetes. One can buy it from this link

1) Chandraprabha Vati: Devdaru which is very useful in curing diabetes is one of the main ingredients of Chandraprabha Vati.  

I have found many websites which sell it online. One of the websites is mentioned below

https://www.eayur.com/ayurvedic/vati-tablets/kottakkal-chandraprabha-vatika.htm

2) Take equal quantities of triphala powder, daru haldi, nagarmotha and venga kathal. Mix them together and store in an air tight glass container. Take one teaspoon everyday with honey. It can cure any type of Diabetes.

3) Take one amla (Indian Gooseberry), crush it to extract its juice. Mix half teaspoon turmeric powder to it and consume it. Regular use of this remedy is also known to cure Diabetes.

4) A water decoction (Kaadha) of mixture of pure shilajit, sandalwood and chironji adjusted to patient's strength is known to cure Diabetes within 3 months provided there is enough focus on good and proper diet.  

Karmas which cause Diabetes: Stealing the property of a noble person or making carnal relations with brother's wife leads to Diabetes.

Propitiating measures as per shastras (ancient scriptures):
  • As per Vayu Puraan, gifting of gold replica (if you can't afford then copper or silver can be used) of a cow to a respectable, learned, selfless and duty-conscious Brahman is beneficial.  The weight of the replica should be 29 or 58 grams.
  • A replica of patient (in gold or silver) to be gifted (to an honest and learned Brahmin) for curing Diabetes.
  • Mental repetition of the mantra "Yemaam Roga Prabhaadadhe" is advocated.
  • Chanting of Purush Suktam and Gayatri mantra is beneficial to cure Diabetes. 

Miscellaneous Remedies: Apart from the above propitiating measures, mantras of Venus should be recited daily and Diamond can be worn if it suits the patient. If one can not afford to wear a diamond then a White Sapphire or a White Opal or a White Coral can be worn. I have also given a mantra for Diabetes on my blog which can be recited daily. 

 5 mukhi and 7 mukhi Rudrakshas, if worn, prove to be beneficial. 



प्रमेह जिसे डायबिटीज भी कहा जाता है एक ऐसी बीमारी होती है जिसमे लम्बे समय के लिए रक्त में शर्करा की मात्रा अपनी सीमा से अधिक बढ़ जाती है | डायबिटीज खासतौर से शरीर के एक अंग पैंक्रियास के सही तरीके से इन्सुलिन न पैदा करने की वजह से होती है । 

शास्त्रानुसार डायबिटीज रोग के लक्षण: नीचे दिए गए लक्षण आधुनिक मेडिकल साइंस द्वारा दिए गए लक्षणों से कुछ हद तक भिन्न हो सकते हैं । मैं केवल वही लिख रहा हूँ जो पुराणो ग्रंथों में लिखा गया है ।
दांतों, कानो और आँखों में अत्यधिक मैल होना | बहुत प्यास लगना और मुँह में हमेशा मीठा स्वाद रहना डायबिटीज के शुरूआती लक्षण  हैं | 

बहुत ज़्यादा पेशाब आना और पेशाब में गंदलापन आना भी डायबिटीज का लक्षण हो सकता है |

ज्योतिषीय योग डायबिटीज के लिए:  पैंक्रियास पर और कुंडली के पांचवे घर पर ज्योतिष में शुक्र का अधिकार होता है| छठा घर बीमारियों का होता है | इन सभी पर अगर कोई पाप प्रभाव हो तो डायबिटीज हो सकता है | इसके अलावा डायबिटीज में बृहस्पति की भी भूमिका होती है |

डायबिटीज में लाभदायक खुराक और आयुर्वेदिक दवाएं:  


कड़वी सब्ज़ियां जैसे करेला (करेले का जूस रोज़ पीना डायबिटीज में बहुत फायदा देता है |), जौ, साबुत मूंग दाल, मोथ की दाल, तूर दाल, नवारा चावल (यह चावलों की एक ख़ास किस्म है जो सिर्फ केरल में उगाई जाती है और डायबिटीज में बेहद फायदेमंद होती है| इन्हे इस लिंक से खरीदा जा सकता है | )

चन्द्रप्रभा वटी: चन्द्रप्रभा वटी डायबिटीज के रोगियों के लिए काफी लाभदायक है क्योंकि इसमें देवदारु नाम की औषधि होती है जो डायबिटीज में उपयोगी होती है | मुझे ऐसी कई साइट्स मिली हैं जो इसे ऑनलाइन बेचती हैं उनमे से एक नीचे दी गयी है | 

https://www.eayur.com/ayurvedic/vati-tablets/kottakkal-chandraprabha-vatika.htm

2) त्रिफला, दारु हल्दी, नागरमोथा और वेंगा कथल की समान मात्रा लीजिए | ये सभी चीज़ें आपको किसी भी आयुर्वेदिक दूकान से मिल जायेगी | इन सबका चूर्ण बनाकर मिला लें और एक हवाबंद कांच के डिब्बे में सुरक्षित रख लें | इसका एक चम्मच रोज़ थोड़े से शहद के साथ लीजिये | डायबिटीज पूरी तरह से ख़त्म करने में यह बहुत मदद करेगा |

3) एक आंवला लीजिये और इसका जूस निकाल लीजिये इसमें आधी चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर इसे पी लीजिये। ऐसा रोज़ करने से भी डायबिटीज में फायदा होता है। 

4) शुद्ध शिलाजीत, चन्दन और चिरौंजी लेकर पानी में इनका काढ़ा बनाइये और पीजिये। इस तरह रोज़ काढ़ा बनाकर पीने से 3 महीने में डायबिटीज ठीक हो जाता है।    

डायबिटीज पूर्व जन्म के किन कर्मों की वजह से होता है : किसी भले व्यक्ति की संपत्ति को चुराने या फिर भाई की पत्नी से सम्बन्ध बनाने से डायबिटीज होता है। 

डायबिटीज शान्ति के उपाय शास्त्रानुसार
  • वायु पुराण के अनुसार एक भले, ईमानदार, विद्वान और निःस्वार्थ ब्राह्मण को एक गाय की सोने से बनी हुई प्रतिमा दान करें। अगर सोने की दान करने की सामर्थ्य न हो तो चांदी या ताम्बे की बनी हुई भी दे सकते हैं।
  • एक भले, ईमानदार, विद्वान और निःस्वार्थ ब्राह्मण को मरीज़ की सोने में बनी हुई प्रतिमा दान करना । अगर सोने की दान करने की सामर्थ्य न हो तो चांदी या ताम्बे की बनी हुई भी दे सकते हैं।  
  • "येमाम रोग प्रभादधे" इस मंत्र का मानसिक जाप इस रोग में बहुत फायदा करता है ।
  • पुरुष सूक्त और गायत्री मंत्र का जप भी इस रोग में काफी फायदा करता है।

मिश्रित उपाय : ऊपर दिए हुए उपायों के अलावा हीरा पहनना (अगर जातक को सूट करता हो तो ) और शुक्र के मन्त्रों का जाप करना भी बहुत फायदा देता है डायबिटीज रोग में । अगर हीरा न पहन सकें तो सफ़ेद पुखराज या सफ़ेद ओपल या फिर सफ़ेद मूंगा भी पहन सकते हैं।  

पांच मुखी और सात मुखी रुद्राक्ष यदि पहने जाएँ तो काफी फायदा करते हैं । 

##########################################################

If you liked this article and this blog then please leave a review on Google by clicking on this link and on Facebook by clicking on this link 

अगर आपको ये लेख और ये ब्लॉग पसंद आया तो अपने विचार गूगल पर व्यक्त करें इस लिंक पर क्लिक करके और फेसबुक पर व्यक्त करें इस लिंक पर क्लिक करके ।

##########################################################



Gaurav Malhotra

About the Author:

Gaurav Malhotra is a B Tech in Computer Engineering from National Institute of Technology (NIT, Kurukshetra) and a passionate follower of Astrology. He has widely traveled across the world and helped people with his skills. You can contact him on his email jyotishremedy@gmail.com. You can also read more about him on his page. His Facebook page can be reached here.

3 comments:

  1. Sir
    Nice useful article.
    Keep up the good work.

    ReplyDelete
  2. "येमाम रोग प्रभादधे" इस मंत्र का मानसिक जाप इस रोग में बहुत फायदा करता है what do you mean by मानसिक जाप

    ReplyDelete

I get huge no. of comments everyday and it is not possible for me to reply to each and every comment due to scarcity of time. I will try my best to reply at least a few comments everyday.

ShareThis