Search

Saturday, October 26, 2019

Effective and Powerful Yantra to Bring Posperity and Growth on Diwali (दीवाली पर समृद्धि और तरक्की के लिए अत्यंत प्रभावी यंत्र)

Dear Readers

I'm going to post an amazing yantra in this post which is very powerful and effective. This yantra is specifically for business men as it may considerably boost their business. But other people may also use this in their houses. This yantra is called Chhatteesa yantra. It brings prosperity in work, removes all fears and increases influence and fame.
If you are facing losses in your business or you are not observing much growth in your business then try this yantra on this Diwali and you will start noticing a positive difference. 
छत्तीसा यन्त्र
Things needed:

1) Sindoor 
2) Ganga jal (ganges water), if available. Optional. 

Muhurta: This yantra should be written anytime on Diwali night.

Procedure: Take some sindoor, add few drops of ganges water to it, if available. If it is not available then add normal water to it. This is to make the ink so that the above shown yantra can be drawn with this ink. 

After making the ink, draw the above yantra with your right hand ring finger on the inside wall of your shop/office or on the entry door of your shop/office. 
People other than businessmen can draw it anywhere inside their house or on the entry door of their house for the prosperity of the house.
The yantra should be worshiped daily with dhoop/agarbatti to get best results. 

Note: Please note the order in which the yantra should be made.

  • Please make the big square first and then the smaller squares in it.
  • Then start filling the numbers in the increasing or ascending order. For example; in the above yantra 1 is the smallest number and it is written on the right side third square from top so when you are filling the numbers; that square should be filled first. The next bigger number is 2 so that square should be filled next and so on.
  • If an unmarried small girl draws this yantra then it would be even better. 
Some people do not understand the Hindi counting so I'm going to explain the numbers for their ease. 

Numbers written in the first row going from left to right are; 10,17,2 and 7
Numbers written in the second row going from left to right are; 6,3,14 and 13
Numbers written in the third row going from left to right are; 16,11,8 and 1
Numbers written in the fourth row going from left to right are; 4,5,12 and 15

 
इस पोस्ट में मैं एक अत्यधिक प्रभावशाली यन्त्र बताने जा रहा हूँ जिसे अगर आप दिवाली की रात को अपनी दूकान या ऑफिस में बनाएंगे तो अभूतपूर्व सफलता व्यापार में दिखाई देगी । इसे केवल व्यापारी वर्ग ही नहीं बल्कि बाकी लोग भी अपने घरों में बना सकते है सुख और समृद्धि के लिए । इस यन्त्र का नाम है छत्तीसा यंत्र । इस यन्त्र के प्रभाव से सुख समृद्धि आती है, हर प्रकार का भय मिटता है; और प्रभाव बढ़ता है । 
अगर आपको अपने व्यापार में घाटा हो रहा है या फिर अगर आपको आपकी इच्छानुसार प्रगति अनुभव नहीं हो रही तो इस यन्त्र को इस दिवाली की रात को ज़रूर बनाइये और आप आशातीत सफलता पाएंगे ।

आवश्यक सामग्री:

1) सिन्दूर 
2) गंगा जल अगर उपलब्ध हो तो अन्यथा साधारण पानी भी लिया जा सकता है । 


मुहूर्त: इस यन्त्र को दिवाली की रात को किसी भी समय बनाया जा सकता है । 

विधि: थोड़ा सिन्दूर लें और इसमें गंगा जल या साधारण जल मिला लें । इससे आपकी स्याही तैयार हो जायेगी जिससे आप ऊपर दिया हुआ यन्त्र बनायेंगे । 

स्याही बनाने के बाद अपने दायें हाथ की अनामिका ऊँगली से ऊपर दिया हुआ यन्त्र अपनी दूकान या ऑफिस के अंदर की दीवार पर या फिर दूकान या ऑफिस के प्रवेश द्वार पर बना दीजिये । 
जो व्यापारी नहीं हैं और इसे अपने घर में बनाना चाहते हैं वो अपने घर की अंदरूनी किसी भी दीवार पर या फिर घर के प्रवेश द्वार पर इसे बना सकते हैं । 
इसे बनाने के बाद अगर रोज़ धूप अगरबत्ती से इसकी पूजा की जाए तो बहुत अच्छा रहता है ।

नोट: इस यन्त्र को बनाते हुए किस अंक को कब लिखना है ये जानना आवश्यक है

  • पहले सभी वर्गों (Squares) को बना लीजिये 
  • इसके बाद उस वर्ग को सबसे पहले भरे जिसमे सबसे छोटा अंक लिखा हुआ है इसके बाद उससे बड़ा और फिर उससे बड़ा; यानी की आरोही क्रम में  |
  • अगर इस यन्त्र को कोई छोटी बच्ची बनाये तो और भी अच्छा है । 
जिन लोगों को हिंदी की गिनती नहीं आती उनके लिए मैं ऊपर यंत्र में दिए हुए अंक नीचे बताने जा रहा हूँ :

सबसे पहली पंक्ति में अगर हम बायीं से दायीं तरफ जाएँ तो सबसे पहले 10 फिर 17 फिर 2 और फिर 7 लिखा हुआ है । 
दूसरी पंक्ति में अगर हम बायीं से दायीं तरफ जाएँ तो सबसे पहले 6 फिर 3 फिर 14 और फिर 13 लिखा हुआ है । 
तीसरी पंक्ति में अगर हम बायीं से दायीं तरफ जाएँ तो सबसे पहले 16 फिर 11 फिर 8 और फिर 1 लिखा हुआ है ।
चौथी पंक्ति में अगर हम बायीं से दायीं तरफ जाएँ तो सबसे पहले 4 फिर 5 फिर 12 और फिर 15 लिखा हुआ है ।  

 

Gaurav Malhotra

About the Author:

Gaurav Malhotra is a B Tech in Computer Engineering from National Institute of Technology (NIT, Kurukshetra) and a passionate follower of Astrology. He has widely traveled across the world and helped people with his skills. You can contact him on his email jyotishremedy@gmail.com. You can also read more about him on his page.

No comments:

Post a Comment

I get huge no. of comments everyday and it is not possible for me to reply to each and every comment due to scarcity of time. I will try my best to reply at least a few comments everyday.