Thursday, December 17, 2015

Remedy for Normal and Painless Delivery (Normal Aur Peedarahit Prasav ka Upay)


Dear Readers

I'm going to post a very powerful and effective mantra in this post which enables easy, painless and normal delivery

The name of this mantra is Sukh Prasav Yakshini Mantra

Mantra

Him Vatyuttare Paarshve
Sursa Naam Yakshini
Tasyaah Noopur Shabden
Vishalya Bhavatu Garbhini Swaaha

Procedure: As the labor pain starts, this remedy should be done. Any friend or relative can do it. 

1) Some edible coconut oil or til oil should be taken in a bowl. 

2) Start chanting the above mantra while swirling your fingers in the oil.  Please make sure that your hands are properly sanitized before you swirl your fingers in the oil.

3) After reciting 11 times, rub the oil from the bowl very gently on the navel of the pregnant lady and make her drink one or two drops of the oil as well. 

4) After this again keep swirling the fingers within the bowl and keep on reciting the mantra for at least 11 times and repeat step 3. Please continue doing step 2 and 3 it till she gets complete relief.

This will reduce the labor pain and increase the chances of a normal and painless delivery.  

You can download the audio recording of this mantra by clicking on this link
   


प्रिय पाठकों 

इस पोस्ट में मैं एक अत्यधिक प्रभावी मंत्र बताने जा रहा हूँ जो प्रसव पीड़ा को कम करता है और नार्मल और पीड़ारहित डिलीवरी में सहायक होता है । 

इस मंत्र का नाम है सुख प्रसव यक्षिणी मंत्र । 

मंत्र


हिम वत्युत्तरे पार्श्वे 
सुरसा नाम यक्षिणी 
तस्याह नूपुर शब्देन 
विशल्या भवतु गर्भिणी स्वाहा


विधि: जैसे ही प्रसव पीड़ा आरम्भ हो इसे करना शुरू कर देना चाहिए । इसे कोई भी मित्र या सम्बन्धी भी कर सकता है । 

1) एक कटोरी में या किसी बर्तन में तिल का या फिर नारियल का तेल लें । 

2) ऊपर दिया हुआ मंत्र जपना शुरू कर दें और साथ ही साथ अपने हाथों की उँगलियों को कटोरी में पड़े हुए तेल में घुमाना शुरू कर दीजिये । हाथों को अच्छे से धोकर कीटाणुरहित कर लेना चाहिए इसे करने से पहले । 

3) मंत्र को कम से कम 11 बार जपने के बाद थोड़ा सा तेल कटोरी में से लेकर इसे गर्भवती स्त्री की नाभि और इसके आस पास हल्का हल्का लगाएं और तेल की 1-2 बूँदें गर्भवती को पिला भी दें । 

4) इसके बाद फिर से कटोरी में पड़े तेल में उँगलियाँ हिलाना शुरू कर दें और साथ साथ में कम से कम 11 बार मंत्र बोलते रहें और फिर से ऊपर नंबर 3 में दी हुई विधि करें । इसे तब तक करते रहें जब तक दर्द में पूरा लाभ न हो जाए । 

इससे निश्चित ही गर्भवती स्त्री की प्रसव पीड़ा में बहुत कमी होगी और डिलीवरी नार्मल होगी ।  

आप इस मंत्र की रिकॉर्डिंग को इस लिंक पर क्लिक करके डाउनलोड कर सकते हैं ।


Gaurav Malhotra

About the Author:

Gaurav Malhotra is a B Tech in Comp. Engg. from National Institute of Technology (NIT, Kurukshetra) and a passionate follower of Astrology. He has widely traveled across the world and helped people with his skills. You can contact him at +91-9211921182 or on his email jyotishremedy@gmail.com. You can also read more about him on his page. This is his Facebook page.
  

No comments:

Post a Comment

I get huge no. of comments everyday and it is not possible for me to reply to each and every comment due to scarcity of time. I will try my best to reply at least a few comments everyday.

ShareThis