Saturday, January 5, 2013

What Makes a Rapist -Astrological Analysis (Ek Balaatkaari Ka Jyotish Visheleshan)


After the unfortunate and brutal Amanat rape and murder incident, I was wondering what astrological indicators would make a rapist. So, I did some research by taking some data of the rapists. Here is the conclusion:

For committing a crime as heinous as rape one needs courage, extreme passion, fearless and violent mind and ability to break social norms.  

Scorpio sign is a passionate sign and heavy malefic influence on it from planets like Mars, Saturn and Rahu may contribute to highly passionate nature. Mars, Venus and Rahu are three planets which decide the sexual and passionate nature of an individual. For example Mars rules the passion and Venus rules sex when both of these planets combine in a house, they make the native highly passionate. Rahu always breaks the taboo and doesn't care about society so its influence on the combination of Mars and Venus may make the native courageous enough to commit the crime. Apart from this I also saw Venus in the sign of cancer for many of the rapists. Cancer is an emotional sign and it rules the thoughts, feelings and emotions. Venus, the planet of sex if lies in this sign may give sexual feelings. Malefic effects on houses like 3rd, 5th, 7th, 8th and 12th may also contribute to the sexual feelings.

Let us analyze the horoscope of a rapist here: 

This native was a serial rapist, molestor and stalker. He raped 16 women over a period of time.

In his horoscope above, moon is in 6th house in poorvashadha nakshatra which is ruled by Venus, the planet of pleasures. Moon is the significator of emotions and feelings and it being in a bad house is not good. Moon is placed with Jupiter which is the lord of 8th house which rules sex, rape etc. Lagna is ruled by Venus (Planet of sex and pleasures) and it is occupied by Mars (Passion, violence and courage) and Rahu(breaking the social norms, fearless). As mentioned above both the planets are enhancing the passion of the native to alarming levels and making him cross the limits set by the society. In addition to this Mars is also the lord of 7th and 12th house. 7th house rules passion and sex and 12th house also signifies the pleasures of bed. His crimes started in the Saturn-Venus dasha.

Rape is a curse on our society, a society where women have always been worshipped in the form of deities. LET US MAKE EVERY EFFORT TO STOP IT.

अमानत रेप और मर्डर केस के बाद मैं सोच रहा था की ज्योतिष में ऐसे कौनसे योग होते हैं जो किसी को बलात्कारी बना देते हैं । इसीलिए मैंने कुछ बलात्कारियों की जन्म की जानकारी लेकर उनकी कुंडलियाँ देखी । मैं यहाँ उसका निष्कर्ष दे रहा हूँ ।

बलात्कार जैसा घिनौना अपराध करने के लिए एक व्यक्ति को चाहिए हिम्मत, अत्यधिक काम वासना, एक निडर और हिंसक दिमाग, और समाज के नियमों को तोड़ने का साहस । 

वृश्चिक राशि मंगल की राशि होने की वजह से काफी कामुक राशि होती है और इसपर शनि, मंगल और राहू जैसे पाप ग्रहों का पाप प्रभाव होने से व्यक्ति अति कामुक हो जाता है । मंगल, राहू और शुक्र ये तीन ग्रह किसी भी इंसान की कामुकता को परिभाषित करते हैं । उदाहरण के लिए मंगल कामुकता को दर्शाता है और शुक्र सम्भोग को दर्शाता है । जब ये दोनों ग्रह इकठे एक घर में होते हैं तो जातक को अत्यधिक कामी बना देते हैं । राहू जातक को निडर बनाता है और जातक समाज या किसी की भी परवाह न करने वाला होता है । अगर राहु का सम्बन्ध किसी भी तरह से इकठे बैठे हुए मंगल और शुक्र से हो जाए तो यह जातक को बलात्कार जैसा अपराध करने की हिम्मत दे सकता है । इसके अलावा चन्द्र मन के भावों और विचारों को दिखाता है । कर्क चन्द्रमा की राशि होती है अगर इस राशि पर या चन्द्र पर शुक्र का प्रभाव हो तो यह भी जातक के विचारों में कामुकता लाता है । तीसरे, पांचवे, सातवें, आठवें और बारहवें घरों पर भी पाप प्रभाव होने से जातक में कामुकता की अधिकता हो सकती है ।

आइये हम यहाँ पर एक बलात्कारी की कुंडली देखें ।

ऊपर दी गयी कुंडली जिस अपराधी की है इसने कुछ ही समय में 16 महिलाओं का बलात्कार किया था । 

इसकी कुंडली में चन्द्रमा जो मन का और मन के विचारों का कारक होता है, एक खराब घर यानी की छठे घर में बैठा है और उसमे भी शुक्र के नक्षत्र पूर्वाषाढ़ा में बैठा है जो उसकी कामुकता को बढ़ा रहा है क्योंकि शुक्र कामुकता को दर्शाता है ।  इसके अलावा चन्द्रमा गुरु के साथ बैठा है जोकि आठवें घर का मालिक है । आठवां घर बदनामी और बलात्कार को दर्शाता है । लग्न में भी शुक्र (काम वासना का ग्रह ) की राशि है और इसमें मंगल (कामुकता का ग्रह ) और राहु (निर्भयता और असामाजिकता का ग्रह ) उपस्थित हैं । जैसा की पहले भी ऊपर बताया जा चुका है की यह दोनों ग्रह शुक्र की राशि में बैठकर जातक की कामुकता को खतरनाक स्थिति तक बढ़ा रहे हैं और उसे समाज की मान्यताओं को तोड़ने की और प्रेरित कर रहे हैं । इसके अलावा मंगल सातवें और बारहवें घर का भी मालिक है । सातवाँ घर सम्भोग और काम का होता है और बारहवां घर शयन सुख का होता है । उसके अपराध शनि में शुक्र की दशा से शुरू हुए।

बलात्कार जैसा घिनौना अपराध हमारे समाज पर एक भद्दा दाग है और वो भी ऐसे समाज में जिसमे नारियों की देवियों की रूप में पूजा होती आई है ।  आइये हम एक सच्ची कोशिश करें इसे रोकने की ।

Gaurav Malhotra

About the Author:

Gaurav Malhotra is a B Tech in Computer Engineering from National Institute of Technology (NIT, Kurukshetra) and a passionate follower of Astrology. He has widely traveled across the world and helped people with his skills. You can contact him on his email jyotishremedy@gmail.com. You can also read more about him on his page.

4 comments:

  1. Gaurav....don't know what to say....

    ReplyDelete
  2. wow..what a analysis ..Gaurav ji

    ReplyDelete
  3. I SALUTE you for your attempt to STOP RAPE. But what is important for you to analyze is WHY KARMA ALLOWS rape? Is this past karma? How does it begin. Along with murders, why do they happen.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Every positive or negative thing in life happens due to positive or negative karmas from the pas lives.

      Delete

I get huge no. of comments everyday and it is not possible for me to reply to each and every comment due to scarcity of time. I will try my best to reply at least a few comments everyday.

ShareThis