Search

Wednesday, December 13, 2017

Myths Around Manglik/Mangal Dosha (Mangal Dosha ke Baare me Galatfahmiyan)



Dear Readers 

I am going to write about Manglik Dosha in this post. 

What is Manglik Dosha: Manglik dasha is formed by Mangal (Mars) when it sits in 1st, 4th, 7th, 8th or 12th house. 


What is all the Fuss about Manglik Dosha: In many old scriptures it has been written that Mars, when placed in, 1st, 4th, 7th, 8th or 12th houses, gives bad results in marriage and in some cases may cause death of partner as well. Hence it is considered very seriously while matching horoscopes.

Should We Bother About it: Only upto a certain extent. The horoscopes should be matched carefully because in more than 90 percent of the cases, the manglik dosha gets cancelled but astrologers and pundits do not disclose this otherwise they will not be able to mint money in the name of remedial poojas and rituals. Manglik dosha is not always bad. There is no need to look for only manglik matches for manglik people. Manglik and non manglik can easily marry each other provided there are cancelling factors in the horoscopes.

Conclusion: There is no need to worry much about Manglik dosha. Horoscopes should be analyzed by a competent astrologer who can guide whether the manglik dosha is good or bad.

Please click on top on the youtube video and see my video on this topic. 

प्रिय पाठकों 

इस पोस्ट में मैं मंगल दोष के बारे में लिखने जा रहा हूं। 

मंगल दोष क्या होता है ? मंगल दोष तब बनता है जब मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या फिर बारहवें घर में होता है।

मंगल दोष की इतनी चर्चा क्यों ? हमारे पुराने ज्योतिष के ग्रंथों में कई जगह यह लिखा गया है कि जब मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या फिर बारहवें घर में होता है तब यह वैवाहिक सुख के लिए अच्छा नहीं होता है और कुछ परिस्थितियों में तो पति या पत्नी की मृत्यु भी हो सकती है।  इसीलिए कुंडलियां मिलवाते समय मंगल दोष को बहुत ध्यान से देखा जाता है। 

क्या हमें मंगल दोष पर ध्यान देना चाहिए ? केवल कुछ हद तक ही। कुंडलियां बहुत अच्छे से मिलाई जानी चाहिए क्योंकि 90% परिस्थितियों में तो मंगल दोष रद्द ही हो जाता है। लेकिन ज्योतिषी और पंडित कई बार जानबूझकर यह बात बताते नहीं हैं ताकि वह उपायों और पूजा के नाम पर पैसे लूट सके। मंगलीक लोगों के लिए केवल मंगलीक कुंडली ही देखने की कोई आवश्यकता नहीं है। मांगलिक और जो मांगलिक नहीं है इन दोनों का आपस में बहुत आराम से विवाह हो सकता है अगर कुंडलियों में मांगलिक दोष रद्द करने वाली परिस्थितियों हो तो।   

निष्कर्ष मंगल दोष के बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं है। किसी जानकार और अच्छे ज्योतिषी से कुंडलियां मिलानी चाहिए और यह पता लगाना चाहिए कि कुंडलियों में मंगल दोष अच्छा है या बुरा है।

इस पोस्ट में सबसे ऊपर एक यूट्यूब वीडियो का लिंक दिया गया है आप उसपर क्लिक करके इसी विषय पर मेरा यूट्यूब वीडियो भी देख सकते हैं।    

##########################################################

If you liked this article and this blog then please leave a review on Google by clicking on this link and on Facebook by clicking on this link 

अगर आपको ये लेख और ये ब्लॉग पसंद आया तो अपने विचार गूगल पर व्यक्त करें इस लिंक पर क्लिक करके और फेसबुक पर व्यक्त करें इस लिंक पर क्लिक करके ।

##########################################################
 
Gaurav Malhotra

About the Author:

Gaurav Malhotra is a B Tech in Computer Engineering from National Institute of Technology (NIT, Kurukshetra) and a passionate follower of Astrology. He has widely traveled across the world and helped people with his skills. You can contact him on his email jyotishremedy@gmail.com. You can also read more about him on his page.


No comments:

Post a Comment

I get huge no. of comments everyday and it is not possible for me to reply to each and every comment due to scarcity of time. I will try my best to reply at least a few comments everyday.